ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नोलॉजिकल एजुकेशन (AICTE) ने इंजीनियरिंग में एडमिशन लेने वाले छात्रों के लिए एक बड़ी घोषणा की है. एआईसीटीई ने अंडर ग्रेजुएट एडमिशन के लिए पात्रता में बदलाव किया हैं. अगर आप 12वीं कक्षा में गणित और फिजिक्स की पढ़ाई नही किये हैं तब भी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर सकते हैं. 12 वीं में गणित और विज्ञान की अनिवार्यता को खत्म कर इसे वैकल्पिक बना दिया गया है.

अभी तक बीटेक और बीई में में एडमिशन के लिए छात्रों को 12वीं में गणित और फिजिक्स पढ़ना जरूरी होता था. अब इस संशोधन के बाद बीई और बीटेक में एडमिशन लेने के लिए 12 वीं कक्षा में गणित और भौतिकी को वैकल्पिक बना दिया है. ख़बर है कि AICTE इसी साल से इस संशोधन को लागू कर सकता है.
यह निर्णय विविध पृष्ठभूमि से इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए आने वाले छात्रों को राहत देने के लिए किया गया है.
ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नोलॉजिकल एजुकेशन के संशोधित नियमों के अनुसार, इंजीनियरिंग के स्नातक कोर्स में नामांकन के लिए आवेदन करने के लिए छात्रों को 12वीं में कम से कम 45 फीसदी अंकों की जरूरत होगी. इसके साथ ही 14 विषयों की सूची में से तीन विषयों में पास होना जरूरी है.

इन 14 विषयों में भौतिकी, गणित, रसायन विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी, जीव विज्ञान, इनफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिस, जैव प्रौद्योगिकी, तकनीकी व्यावसायिक विषय, इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, व्यावसायिक अध्ययन, अंत्रप्रेन्योरशिप आदि शामिल हैं.
इन विषयों में किसी तीन में 45 फीसदी नंबर लाने होंगे. इसके साथ ही रिजर्व कैटेगरी के छात्रों को कम से कम 40 नंबर लाने हैं. ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नोलॉजिकल एजुकेशन ने अपनी हैंडबुक में कहा, “विविध पृष्ठभूमि से आने वाले छात्रों के लिए विश्वविद्यालय गणित, भौतिकी, इंजीनियरिंग ड्राइंग जैसे उपयुक्त कोर्स की पेशकश करेंगे.”
केंद्र सरकार की इस कोशिश पर हाल में ही शिक्षाविदों की जबर्दस्त प्रतिक्रिया सामने आई थी. उनका मानना है कि किसी भी इंजीनियरिंग डिग्री के लिए गणित एक फाउंडेशन का का काम करता है. शास्त्री यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर वैद्य सुब्रमण्यम ने कहा, “ब्रिज कोर्स वास्तव में उन छात्रों के लिए रेमेडी का काम कर सकता है जो गणित में कमजोर हैं. यह वास्तव में 12वीं कक्षा के स्तर के गणित को रिप्लेस नहीं कर सकता. वह वास्तव में एक फंडामेंटल कोर्स है.”

देश और दुनियाभर की ख़बर को पढ़ने के लिए सॉलिड ख़बर विजिट करते रहें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here