कहते हैं किस्मत सभी को कभी न कभी एक बार मौका जरूर देता है । उस मौके को जो समझता है वह उसे भुना लेता है नहीं तो गवा देता है । कुछ ऐसी ही कहानी है सोशल मीडिया में हुए वायरल बाबा का ढाबा की।
बाबा के घर ढाबा का सफर जहां से शुरू हुआ था वहीं पर फिर आ पहुचा है।
लाखों रुपए रेस्टोरेंट में इन्वेस्ट करने के बाद से बाबा का एक भौकाल बन गया था। बाबा चश्मा लगा कर स्वैग से पैसे गिनते दिखने लगे थें।
यूट्यूबर गौरव वासन के वायरल वीडियो के बाद बाबा के ऊपर लोगों ने खूब पैसे बरसाए थे।
जिसके बाद बाबा जी ने दिल्ली के मालवीय नगर में एक बढ़िया सा रेस्टोरेंट खोला जिसमें कई तरह के अलग-अलग पकवान भी शामिल किए, सीसीटीवी कैमरे लगवाए जिनका कंट्रोल उनके दो-दो फोन में था।
समय का पहिया घूमा जिन्होंने उनकी मदद की उनके ऊपर ही उन्होंने बड़े आरोप लगाएं,कोरोना का दूसरा लहर आया और फरवरी में संघर्ष करते करते उनका नया रेस्टोरेंट बंद हो गया।
अब बाबा का सारा कमाया हुआ और लोगों के दान में मिला सारा धन और सब कुछ उन्होंने गवा दिया।
घर खर्च चलाना मुश्किल हो गया अब किस्मत ने उनको वही लाकर पटक दिया है जहां पर उन्होंने यह सफर शुरू किया था ।
अब वह मल्टी कुजीन पकवान सर्व नही करते बल्कि वही रोटी सब्जी दाल सर्व करते हैं जो पहले किया करते थे।
बाबा जी की आदत रही है कि वह जो उनकी मदद करता है उसके ऊपर वह आरोप लगा देते हैं ।
इस बार भी लगा रहे हैं इस बार आरोप उनके ऊपर लगा रहे हैं जिन्होंने उनके रेस्टोरेंट को लगाने में उनकी मदद की थी। बाबा जी का कहना है कि उन्हें भ्रमित कर दिया क्या और रेस्टोरेंट खोलने का गलत आईडिया दिया गया जिसमें पूरे पैसे बर्बाद हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here