महँगाई की मार झेल रहे देशवासियों को 1 नवंबर, 2020 से एक और झटका लगा है , कई नए बैंकिंग नियम को लागू कर दिया गया हैं। ऐसे में कुछ बैंकों ने बैंक अवकाश और non-business hour में धन को credit करने या debit करने पर उपभोक्‍ताओं से additional charges लेना शुरू कर दिया है। हालांकि, जनधन खाता धारकों को इन नियमों से राहत दी गई है और उन्‍हें ऐसा करने पर कोई शुल्‍क नहीं देना होगा।

यदि current और overdraft account एक दिन में एक लाख रुपये से अधिक जमा कराता है, तो उसे शुल्‍क देना होगा। वरिष्‍ठ नागरिकों को इस शुल्‍क से छूट मिलेगी।  

MoneyControl ने एक रिपोर्ट प्रकाशित किया है जिसके अनुसार, आईसीआईसीआई बैंक ने 1 नवंबर से शाम 6 बजे से सुबह 8 बजे के बीच नॉन-बिजनेस घंटों के दौरान एटीएम मशीन पर कैश जमा करने के लिए उपभोक्‍ताओं से 50 रुपए का सुविधा शुल्‍क लेना शुरू कर दिया है।

इसके साथ ही, यदि कैश एक्‍सेप्‍टर/रिसाइकलर मशीन में एक माह में 10,000 रुपए से अधिक की राशि जमा करने पर, चाहे यह एक बार में हो या कई बार में, बैंक तब भी सुविधा शुल्‍क वसूलेंगे।

e1e32dbf8a0c4484a3789e009bb665d2
cash debited and credited

आईसीआईसीआई बैंक ने कहा कि वरिष्‍ठ नागरिकों, बेसिक सेविंग एकाउंट्स, जनधन एकाउंट्स और दृष्टिहीन के साथ ही साथ स्‍टूडेंट्स एकाउंट्स पर इस तरह का कोई शुल्‍क नहीं लिया जाएगा।

बैंक ऑफ बड़ोदा ने भी एक निर्धारित राशि से अधिक का लेनदेन करने के लिए उपभोक्‍ताओं से शुल्‍क वसूलना शुरू किया है। वहीं एक्सिस बैंक ने अगस्‍त में बैंक हॉलीडे पर धन जमा करने पर 50 रुपए का सुविधा शुल्‍क लगाना शुरू किया है।
बैंकों ने कई तरह के प्रभार तो लगा ही थे ऐसे में इस तरह के चार्जर से आम नागरिकों को काफी ज्यादा समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। अभी यह चार्जेस दो बैंक ही वसूल रहे हैं लेकिन धीरे-धीरे सभी बैंक! इस नियम को लागू कर देंगे।

ऐसे ही जरूरी खबरों को पाने के लिए सॉलिड ख़बर एप्प को इनस्टॉल करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here