कुशीनगर के अभिनायकपुर की भारतीय वायुसेना के सेवानिवृत सार्जेंट की बेटी आकांक्षा सिंह ने नीट 2020(NEET 2020) में शत प्रतिशत नंबर यानी की 720/720 हासिल कर इस प्रतिष्ठित परीक्षा के टॉपरों में दूसरे नंबर पर अपना नाम दर्ज करा लिया है। इस ख़बर को सुनते ही कुशीनगर के सोशल मीडिया में जश्‍न मन रहा है। आकांक्षा का मूल कुशीनगर से है। 

शुक्रवार को नीट के रिजल्ट की घोषणा होते ही उनकी कामयाबी का जश्‍न गोरखपुर के उनके कोचिंग संस्‍थान में भी मना। आकांक्षा ने NEET2020 के परीक्षा में पूरे भारत में दूसरा रैंक हासिल किया है। उन्हें 720 में 720 अंक मिले। इसी के साथ वो यूपी की भी टॉपर हो गई हैं । आकांक्षा,कुशीनगर की वह पहली छात्रा बन गई है जिसने NEET परीक्षा में इतना अच्छा रिजल्‍ट हासिल किया। परीक्षा का परिणाम शुक्रवार को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा घोषित किए गया |

कुशीनगर के अभिनायकपुर की आकांक्षा सिंह ने इस परिणाम को कई बाधाओं से लड़ते हुए प्राप्‍त किया है। इसलिए संवादाता इन्हें ‘Unstoppable Akansha’ नाम से शोभित कर रहा है । बिना किसी खास सहयोग के आकांक्षा ने NEET 2020 को क्रैक अपने सपने को पूरा किया। इस सपने को पूरा करने के लिए आकांक्षा ने दिन-रात एक कर दिया था और हर परिस्थितियों में पढ़ाई जारी रखा। उनका सफर कुशीनगर से गोरखपुर और गोरखपुर  से दिल्‍ली तक रहा है।जहां भी रहीं कड़ी मेहनत से तैयारी की। गोरखपुर में कोचिंग के दौरान उनकी मां उन्हें रोज कुशीनगर के बस स्टॉप तक लेकर जाती थीं। गोरखपुर से वापस आते समय कोचिंग का स्‍टॉफ उसे बस स्‍टॉप पर छोड़ता था। 

पिता भूतपूर्व वायुसेना सार्जेंट, मां टीचर 
आकांक्षा के पिता भारतीय वायुसेना के रिटायर्ड सार्जेंट हैं। उनकी मां रुचि सिंह गांव पर ही प्राथमिक स्‍कूल की टीचर हैं। बेटी की इस कामयाबी से वे दोनों बेहद खुश हैं। शुक्रवार को रिजल्‍ट आने के बाद उन्‍होंने अपने पूरे गांव में मिठाई बांटकर इस खुशी का इजहार किया। 
आकांक्षा ने NEET 2020 में 100% स्कोर करके न सिर्फ अपना और अपने परिवार का बल्कि अपने जिले कुशीनगर और पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here