सोने-चांदी समेत कई वस्तुओं पर माल एवं सेवाकर (GST) की स्लैब में बदलाव को लेकर एक अहम बैठक शनिवार की जाएगी.
इसके लिए एक मिनिस्टर ग्रुप बनाया गया है, जो जीएसटी को और आसान बनाने के कई उपायों पर विचार करेगा.

27 नवंबर को होगी मंत्री समूह की बैठक

27 नवंबर को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई की अध्यक्षता में बना मंत्री समूह बैठक करेगा. इस बैठक का उद्देश्य GST के स्लैब स्ट्रक्चर में बदलाव के साथ-साथ कुछ वस्तुओं पर जीएसटी कर की दर को भी तर्कसंगत बनाने के विकल्पों पर विमर्श करना है.

तो क्या बढ़ सकता है सोने-चांदी पर टैक्स?

बैठक में सोने और चांदी पर GST की दर बढ़ाने के मुद्दे पर भी विचार होने की उम्मीद है. अभी सोने और चांदी पर 3% की दर से जीएसटी लगता है जिसे बढ़ाकर 5% किए जाने को लेकर मंत्री समूह की बैठक में विचार किया जा सकता है. इस बैठक की जानकारी रखने वाले सूत्रों के हवाले से खबर है  कि बैठक के दौरान कई मुद्दों पर आधिकारिक तौर पर बातचीत की जानी है.

12 और 18% की स्लैब हो सकती है एक

बैठक के दौरान GST की मौजूदा 12% और 18% की टैक्स स्लैब को एक करने के प्रस्ताव पर भी विचार हो सकता है. मंत्री समूह की सिफारिशों को बाद में अंतिम निर्णय के लिए जीएसटी परिषद के पास भेजा जाएगा. जीएसटी परिषद (GST Council) की दिसंबर में बैठक होने की संभावना है. जीएसटी परिषद की बैठक जीएसटी राजस्व संग्रह बढ़ाने के तरीकों पर विचार करने के लिए होनी है. इस पर पिछले कुछ महीनों से कवायद जारी है.

देश और दुनियां की सभी बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए अभी हमारा ऐप डाऊनलोड करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here